उद्याचे हवामान अंदाज

𝑠𝑒𝑥𝑣𝑖𝑑𝑒𝑜𝑠

𝑠𝑒𝑥𝑣𝑖𝑑𝑒𝑜𝑠, सोनल और सुमन …जो अब तक उठ के बैठ गयी थी वो सुनील को देख रही थी.. तभी सुमन झुकी और अपने होंठ उसके होंठों से सटा एक छोटा सा चुंबन करते हुए बोली…..आप परेशान मत हो…..सब ठीक हो जाएगा…..हम समझा देंगे उसको. उधर सोनल तयार हो कर हॉल में आ गयी और सुनील के सामने बैठ गयी. सफेद टाइट टॉप और नीली जीन्स जिसमे से उसकी पैंटी का टॉप झाँक रहा था.

सोनल...रूबी इस हादसे से परेशान मत होना...वो तो अच्छा हुआ कि कवि ने सब टाइम रहते पकड़लिया...वरना पलक तो तुम्हारी जिंदगी बर्बाद कर देती.... मैंने झट दादाजान का लण्ड मुँह में लिया और मजे-मजे से चूसने लगी। मेरे चूसने से थोड़ी देर में ही दादाजान का लण्ड एकदम पूरा अकड़ गया। मैं दादाजान का लण्ड मुँह से निकलते हुये बोली- दादाजान अब आपका लण्ड खूब गुस्से में आ गया है और ये मेरी चूत और गाण्ड की मार लगाने के लिए बिल्कुल तैयार है...

चेहरे पे मुस्कान आ गयी और वो सुनील से लिपट गयी - उसके चेहरे को चूमने लगी ......सुनील की नींद भी खुल गयी और उसने सूमी को अपने उप्पर खींच लिया और उसके होंठ चूमने लग गया. 𝑠𝑒𝑥𝑣𝑖𝑑𝑒𝑜𝑠 और भागती हुई राजेश से लिपट गयी...कहाँ जा रहे थे भाई ...अभी आए भी नही और चल दिए ...भाभी कहाँ है ...उनको साथ क्यूँ नही लाए.........

తెలుగు సెక్స్ ఆడియో వీడియో

  1. जब ज़रूरत से ज़्यादा देर हो गयी तो .......राजेश समझ गया ...उसकी बीवी ....शर्म-ओ-हया की दीवारों में फस गयी है......वो उठ के बाथरूम के बाहर खड़ा हो गया ........बेगम साहिबा नाचीज़ आपके दीदार के लिए तड़प रहा है ......
  2. ये ख़याल आते ही उसकी आँखें नम हो गयी उसने और उसकी बेटी दोनो ने प्यार किया भी तो उससे जो उनके प्यार को पहचानने से इनकार कर रहा था. वाह री नियती किसी की झोली में खुशियाँ ही खुशियाँ और किसी को गम ही गम. उर्वशी रौतेला का सेक्सी वीडियो
  3. सुनील ने टॉपिक वापस उसी बात पे रख डाला ……..’ये पर्सनल सेंटिमेंट्स बाद में डिसकस करना…..अभी ये बताओ …कविता का क्या करें’ ‘ना मेरी गुड़िया ना … बहुत रो चुकी अब तो तेरे हँसने के दिन आ गये… हो सके तो मुझे माफ़ कर देना… तेरे दर्द को देख नही पाई…. मेरी गुड़िया तड़प रही थी और मैं अंजान रही… मुझे माफ़ कर दे मेरी बच्ची… बोल बनेगी ना मेरी सौतन’
  4. 𝑠𝑒𝑥𝑣𝑖𝑑𝑒𝑜𝑠...राजेश कविता के हाथ को पकड़ लेता है .....अहह सिसक पड़ी कविता ............जानेमन आँखें नही खॉलॉगी तो अपना तोहफा कैसे देखोगी ............राजेश वो हीरे का हार उठा कविता के हाथ में रख देता है और उसे हाथ को चूम लेता है . म्म्म्मा आहह कविता उसके होंठों को अपने हाथ पे महसूस कर लरज गयी ..... दोनो के चिल्लाने की आवाज़ें बाहर बैठा सुनील सुन रहा था - पहले सोचा अंदर चला जाए --- फिर चुप रह गया - लेट दा टू सिस्टर्स सॉर्ट देम्सेल्व्ज़ ऑन देयर ओन.
  5. सुनील सोनल के चेहरे पे झुकता है तो उसकी आँखों से टपके आँसू नज़र आ जाते है.......उसके होंठों पे अपनी ज़ुबान फेरते हुए पूछ लेता है ...अब तुझे क्या हुआ मेरी जान .... इतना बेवकूफ़ तो विक्की भी नही था कि ये ना समझे के दोनो कज़िन्स के बीच नही बनती – वरना अगर आपस में प्यार होता तो सुनील सब कुछ छोड़ रमण के पास जाता.

कॉलेज सेक्सी व्हिडिओ मराठी

मैं उठ कर खड़ी हुई अपने बालों बालों का जुड़ा खोलने लगी कि कितने में माँठाकुराइन बोली नहीं, नहीं इसके बाल मैं खोलूँगी...

सूमी भी अपने कमरे में जा के लेट गयी और आराम करने लगी. सुनील बाथरूम में घुस गया… आज वो बहुत खुश लग रहा था… कल जिस तरहा उसने सूमी को चोदा था और फिर सोनल को …. दोनो से जो अलग अलग किस्म का आनंद मिला था वो उसकी रूह तक में समा चुका था. 'ये था सेक्स का चोथा लेसन - दिस ईज़ हाउ यू किस आ गर्ल ' सुमन के होंठों पे मुस्कान थी और सुनील पत्थर की तरहा खड़ा अपने अंदर उठती हुई भावनाओं को कुचल रहा था.

𝑠𝑒𝑥𝑣𝑖𝑑𝑒𝑜𝑠,सवी....आरती जी...आप लोगो के साथ का बहुत शुक्रिया ...अब हम अपने घर जाएँगे...सुनेल अभी कोमा में है...जब उसे होश आएगा...तब मुझे खबर मिल जाएगी...बहुत बहुत शुक्रिया आपका .......आरती कुछ बोल ही ना पाई और सवी टॅक्सी ले मिनी को साथ ले अपने घर चली गयी..

‘…..उस गधे को देख गुस्सा ना आता तो क्या आता….वो तो मिनी की वजह से चुप रह गया वरना दो-तीन तो लगा ही देता………देखा नही उसे देख रूबी की क्या हालत हो गयी थी…..और मुझे नही लगता उसने वाक़ई में मिनी के साथ शादी करी है……कुछ ना कुछ तो राज़ है इसमे…ऐसे आदमी को कॉन अपनी लड़की देगा…….’

विजय ...बक बक बंद कर सागर तेरा असली पिता है......अंकल कह के उनकी आत्मा को दुख मत दे.....इधर आ मेरे पाससेक्सी दो ब्लू पिक्चर

जानती हूं लेकिन मेरे तंत्र-मंत्र के लिए कुएं का पानी जरूरी है मुझे तेरी मौसी का इलाज करना है ना, इसलिए… मेरे घर पहुंचते-पहुंचते बारिश रुक चुकी थी लेकिन मैं तो पूरी तरह भीग गई थी, इसलिए जैसा मैने सोचा था वैसा ही हुआ| घर के दरवाज़े की चौखट पर छाया मौसी खड़ी- खड़ी मेरा रास्ता देख रही थी| बारिश की वजह से बिजली भी गुल थी इसलिए छाया मौसी ने हर कमरे में यहां तक कि गुसलखाने में भी मोमबत्ती जला कर रखी थी|

सोनल और ….सविता दोनो आ जाती हैं और सुमन वो लेटर उनके सामने रख देती है….सोनल कोई प्रतिक्रिया नही करती पर सविता ज़मीन पे ऐसे थुक्ति है जैसे समर के मुँह पे थूक रही हो.

समर लूटा पिटा सा सा सोफे पे बैठा सोचने लग गया – ये कॉन सा तूफान उसकी जिंदगी में आ गया. अब उसमे हिम्मत नही थी सुनील से नज़रें मिलाने की.ना वो सविता को रोक पाया और ना ही रूबी को.,𝑠𝑒𝑥𝑣𝑖𝑑𝑒𝑜𝑠 अगले दिन सभी नाश्ते की टेबल पर बैठे तो आज मिनी भी आ गयी थी…सभी चोन्के क्यूंकी मिनी अपना और रमण का नाश्ता कमरे में ले जाया करती थी.

News