हिंदी सेक्स फिल्म मूवी

स्टॅमिना कसा वाढवायचा

स्टॅमिना कसा वाढवायचा, दोनों का प्रेमालाप करीब बीस मिनट तक ऐसे ही चलता रहा और इतनी देर में दोनों ही माँ-बेटी कई बार झड़ गयी. इतनी देर में दोनों ने एक दूसरी के शरीर के लगभग हर अंग को चाट और चूम लिया था, दोनों ने एक दूसरी की गांड का भी स्वाद ले लिया था और दोनों माँ बेटी के बीच कायम हुए इस नए रिश्ते से काफी खुश लग रही थी. फिर वो राधिका को अपने उपर आने को बोलता हैं. और राहुल नीचे लेट जाता हैं. राधिका भी अब अपनी जीभ उसकी गर्देन पर रख देती हैं और धीरे धीरे वो नीचे की ओर बढ़ती हैं. फिर राधिका उसे शर्ट के बटन को अपने मूह में फँसाकर धीरे धीरे एक एक करके अपनी उंगली की मदद से खोलना चालू करती हैं.

राधिका- अजीब आदमी हो जान चली जाती उसका कोई गम नही था और इस दुपट्टे क्या गंदा हो गया इसकी बहुत फिकर है. राधिका-अया...............अया...... प्लीज़ भैया रुक जाओ. मुझे बहुत दर्द हो रहा हैं. पता नहीं क्यों पर ऐसा लग रहा हैं जैसे आज मैं पहली बार मैं चुदवा रही हूँ.

शंकर- तू बहुत थक गयी होगी बेटी. तू थोड़ी देर आराम कर ले मैं तेरे लिए जाकर खाना बना देता हूँ फिर जब तेरी नींद खुलेगी तो तू उठ कर खाना खा लेना. और फिर शंकर वहाँ से उठ कर कमरे के बाहर निकल जाता हैं... स्टॅमिना कसा वाढवायचा फिर थोड़ी देर में जब रजत की तन्द्रा टूटी तो उसको समझ आया कि उसको मयूरी को चुप करना चाहिए. वह अपना एक हाथ उसके पीठ पर और दूसरा हाथ उसकी गोल गोल बड़ी बड़ी गांड पर रखते हुए बोला- अरे कोई बात नहीं दीदी… तुम रोओ मत… घर में कोई नहीं है और किसी ने नहीं देखा.

इमेज टू वीडियो मूवी मेकर

  1. हम लोगों ने सामान वग़ैरह बना कर तैय्यार कर लिया. शाम के करीब छ: सात बज़े के बीच वो लोग आ गये। मैं तो इस फिराक में लग गयी कि यह लोग क्या बातें करते है ।
  2. कृष्णा- तू इतने यकीन से कैसे कह सकती हैं कि मैं तुझे हाथ भी नही लगाउन्गा. अगर रात में मैं तेरे साथ कुछ.............. सेक्स दिखाएं सेक्स सेक्स सेक्स सेक्स
  3. राधिका को तो जैसे विश्वास ही नही होता कि राहुल उसके लिए इतना सब कुछ कर सकता हैं. वो बस एक टक राहुल की आँखों में देखती रह जाती हैं. राधिका शरम से अपनी नज़रें नीची कर लेती हैं उसको ऐसा शरमाता देख कृष्णा के चेहरे पर भी मुस्कान आ जाती हैं.
  4. स्टॅमिना कसा वाढवायचा...' मैं क्या कर रही हूँ, तुम चूत खोले पड़ी थी में सोची तुम चुदासी रह गईं हो, पर चोदने वाले तो कब के चले गये, इसलिये तुम्हारी चूत में बेलन लगा दिया. राहुल- हम अगले महीने शादी कर रहे हैं. मैने पंडितजी से मुहूरत भी निकलवा लिया हैं. 21 जून को पंडित जी ने डेट फिक्स किया हैं. और तुम्हारी मेरी कुंडली भी मिल गयी हैं. बस शादी के कार्ड्स एक दो दिन में मिल जाएँगे.
  5. राधिका- नहीं आंटी ऐसी कोई बात नहीं हैं. अभी मैने उससे बात की थी तो कह रही थी की मैं घर पर हूँ. इसलिए. पूछा. लंच के बाद कामिनी करण से मिलने लॉक-अप पहुँची.उसने देखा की वाहा संजीव मेहरा भी मौजूद हैं,थोड़ी देर करण के साथ बाते करने के बाद वो उसके चाहचहा को 1 तरफ ले गयी,मिस्टर.मेहरा,मुझे आपसे 1 काम है?

विज्ञान का आविष्कार किसने किया

कामया- हाँ… ड्राइवर सिर्फ़ गाड़ी चलाते है और मेडम को घर छोड़ते है बस उसके लिए उन्हें तनख़्वाह मिलती है बस

शीतल को भी यह बात स्पष्ट हो चुकी थी कि उसके दोनों बेटे अपनी मॉम को एक साथ ही चोदने वाले हैं. फिर वो अपने कमरे की तरफ बढ़ गयी यह जानने के लिए कि उसकी बेटी अपने बाप को फंसाने में कहाँ तक कामयाब हुई है. राधिका- राहुल मुझे शरम आती हैं वो सब बात करने में. प्लीज़ ऐसे ही कर लो ना आज. ज़रूरी हैं क्या हर बात बोलना.

स्टॅमिना कसा वाढवायचा,थोड़ी देर में जब मयूरी बाथरूम से वापिस आयी तो विक्रम भी पेशाब करने और अपने लंड को साफ़ करने बाथरूम गया और थोड़ी देर में नग्न ही वापिस भी आ गया.

कृष्णा- राधिका अब मैं तुमसे यही उमीद करूँगा कि तुम जो भी मुझसे बात कहोगी सच कहोगी................................................बोलो राधिका क्या हैं सच..........................................

मयूरी- फिर किस की वजह से? यहाँ तो मैं ही हूँ बस… वो भी पूरी नंगी… और ओह… हहाँ… मैं तुम्हारी बाँहों में हूँ… और हाँ तुम्हारे हाथ मेरी गांड के छेद पर रगड़ रहे हैं… इससे तो यही साबित होता है कि यह मेरे लिए खड़ा है?राजधानी नाइट चार्ट बताइए

राधिका एक टक कृष्णा की आँखों में देखती हैं - छोड़ो ना भैया क्या अब आप भी बेकार की बातें लेकर बैठ गये. कहते हैं कि अगर कुछ बुरा होने वाला होता हैं तो इंसान को उसका आभास पहले से ही हो जाता हैं. आज सुबह से ही राधिका का दिल बहुत बेचैन था. पता नहीं क्यों पर उसके दिल में एक अजीब सा डर जनम ले रहा था.....

बिहारी ना चाहते हुए भी कुछ नहीं कह पाता और अपना अपनी गर्देन नीचे झुका लेता हैं.. आज राधिका की कही हुई बातो का उसके पास कोई जवाब नहीं था. आज बिहारी सारी बाज़ी जीत कर भी हार गया था आज राधिका की वजह से उसे ज़िंदगी में सबसे बड़ी शिकस्त मिली थी

राहुल- ये सब आप लोगों ने अच्छा नही किया. इतना भी नहीं सोचा की आपके ये सब करने के बाद राधिका का क्या होगा.,स्टॅमिना कसा वाढवायचा कहकर बिरजू पीछे से लिपट गया और उसका लण्ड चम्पा के चूतड़ों मे गड़ने लगा। अब आगे से बल्लू का लण्ड चम्पा के पेट पर और पीछे से बिरजू का उसके चूतड़ों मे ठुनका ले रहा था। बिरजू की इस हरकत पे चम्पा बोली – ये क्या कर रहा है बिरजू ?

News