సౌందర్య సెక్స్ వీడియో

पाचवा वेतन आयोग महाराष्ट्र

पाचवा वेतन आयोग महाराष्ट्र, धीरे – धीरे सलौनी की झिझक कम होती जा रही थी.., उसने उसका अंडरवेर भी निकाल दिया और नंगी आँखों से पहली बार इतने नज़दीक से अपने भाई के लंड को निहारने लगी…! दोनो माँ-बेटे उसकी मनसा समझकर मुस्करा उठे, शंकर ने हँसते हुए उसे अपनी गोद में बिठा लिया और उसके कच्चे अनारों को मसल डाला…!

भोला – अरे शंकरा.., मेरे ऐसे नसीब कहाँ जो मेरी कोई ससुराल होती.., मेरे जैसे पागल का क्या है.., जिधर हाँकोगे तुम लोग उधर चल दूँगा…! लाला ने जब उसे ज़ोर से हिलाया तो उसकी आँखे बंद होती चली गयी और उसका शरीर ऐंठ सा गया और वो नीचे गिरती चली गयी...

मेरी चुत में अपना तगड़ा लंड पेलते हुए रूपेश बोला, हां राज भाई, मुझे भी निकिता बड़ी सुन्दर और सेक्सी लगती हैं. क्या चूचिया हैं साली की. अगर उन दोनोंको भी इस खेल में जोड़ा जाए तो अपने तो वारे न्यारे हो जाएंगे. पाचवा वेतन आयोग महाराष्ट्र राज ने भी मुझे बताया, सुनीता रानी, सारिका के ससुराल में उसे आधी रातको जगाकर मैंने उसकी चुत बड़ी देर तक चाटी। फिर उसे घोड़ी बनाकर घर के पीछे खुले आँगन में हो चोद डाला. यहां तुम रूपेश से लॉज के कमरे में चुद रही थी और वहां गाँव में उसी समय मैं आसमान के नीचे गोरी गोरी सारिका को चोद कर सुख दे रहा था.

സെക്സ്സ് എങ്ങനെ

  1. रंगीली ने एक भरपूर नज़र से रामू को देखा.., रामू उसकी नज़र का सामना नही कर पाया और इधर उधर देखने लगा…!
  2. जिसे महसूस करते ही वो पागल कुतिया की तरह बिलबिलाती हुई, अपने भाई के लंड पर लोटनियां मारती हुई झड़ने लगी.. मारवाड़ी सेक्सी चोदा चोदी
  3. नीरज हँसते हुए बोला, अरे यार, राज को तो ऐसे ही मजाक करने की आदत हैं. मैं पिछले कई दिनों से देख रहा हूँ. उसे पता था की खेतो में बने इस ट्यूबवेल वाले कमरे में सभी ने एक बड़ी सी होदी बना रखी है और अक्सर वो उसमें नहा भी लिया करते है,
  4. पाचवा वेतन आयोग महाराष्ट्र...पिंकी : ओह्ह ...लालाजी ...माफ़ करना...पर..मैं नहा रही थी...दरवाजे की आवाज़ सुनकर ऐसे ही भागती आ गयी...नंगी खड़ी हूँ , इसलिए दरवाजा नही खोल रही...एक मिनट रूको..मैं कुछ पहन लेती हूँ ...'' ''ओह माँआआआआआआ.... सच में ....तेरी इन मोटी छातियों को देखकर कितने सालो से इन्हे दबाने का और चूसने का मन था....अब तो दिन रात चोदूँगा तुम्हे.....चूसूँगा ...और रगडूंगा .....''
  5. रंगीली ने उसकी बात का बुरा मानने की वजाय अपने मुँह में मिठास घोलते हुए कहा – ऐसी बात क्यों कह रही हैं मालकिन, मे तो आप दोनो की सेवा में ही लगी रहती हूँ.., सुषमा – क्या सच में इससे ज़्यादा और कुछ नही हुआ था…? खैर छोड़ो मे तो बस तुम्हें ऐसे ही छेड़ रही थी…, एक काम करो

साउथ में सेक्सी वीडियो

सलौनी की मुनिया उसके लंड के पर्वत शिखर पर टिकी हुई थी.., दोनो ही निरि देर तक अपनी वर्तमान स्थिति से अन्भिग्य बस अपने अंदर उठ रहे वासना के तूफान के बाशिभूत बस यूँ ही पड़े रहे…!

रंगीली अपने बेटे की नज़र ताड़ते हुए उसके चेहरे पर एक कामुक स्माइल तैर गयी, सलौनी के कंधे पकड़कर वो उसे लेकर सधे हुए कदमों से उसके बिस्तर तक लेकर आई…, जवान शंकर ये सब कहाँ सहन कर पाता, लिहाजा उसने भी अपना एक हाथ पीछे घूमकर सलौनी के गले में डाला और उसके होठों का रस्पान करने लगा.

पाचवा वेतन आयोग महाराष्ट्र,लेकिन जब दो दिन तक भी लाजो उसके पास नही आई तो वो बैचैन होने लगा.., हमेशा बिंदास रहने वाले भोला के मन में लाजो अपनी जगह बना चुकी थी…!

एक बार दोनो अपनी काम क्रीड़ा ख़तम कर चुके थे, इस समय बसंत के सुहाने मौसम में चौबारे के वरॅंडा में ज़मीन पर गद्दे डाले मदरजात नंगे एक दूसरे की बाहों में लिपटे.., एक दूसरे के अंगों से खेलते हुए बातें कर रहे थे…!

अपने घर से निकालकर जब नंदू की माँ गोरी अपनी कमर मटकाती हुई खेतो की तरफ जा रही थी तो उसी रास्ते से लाला अपनी बुलेट लेकर निकला..सेक्सी हिंदी पिक्चर ब्लू

पिंकी : हाय ....मेरी जान....मेरा तो मन बेईमान हो रहा है तेरी चूत देखकर...मन तो कर रहा है की इसे मैं अभी खा जाऊं ....'' एक दिन ऐसे ही कॉलेज से लौटते वक़्त तो उसने हद ही करदी, अपने दोनो अनार जो अब काफ़ी बड़े हो चुके थे उन्हें उसकी पीठ से रगड़ते हुए उससे पूरी तरह चिपक गयी.

कड़क दमदार लंड की ठोकरें चूत की लास्ट गहराई तक पड़ने से सलौनी अपना आपा खो बैठी.., और एक लंबी सी चीख मारते हुए भल-भलाकर झड़ने लगी…

नीचे होने के कारण रंगीली के मुँह से कराह निकल गयी, वो दोनो उठकर खड़ी हो गयी.., लाजो उससे अपना हाथ छुड़ाने की कोशिश करते हुए बोली – छोड़िए काकी, मुझे मर जाने दीजिए…!,पाचवा वेतन आयोग महाराष्ट्र दिन में ज़्यादा भीगते रहने और मस्ती करते रहने से शाम को सलौनी जल्दी खा-पीकर सो गयी.., इसका फ़ायदा उठाते हुए रामू के खाना खाकर खेतों की ओर निकलते ही रंगीली अपने बेटे के कमरे में चली गयी…!

News