सुहागरात के बारे में जानकारी

बाथरूम करती हुई

बाथरूम करती हुई, अहह... आह्ह्ह्ह्ह... आहह, इष्ह, यसस्स्सस्स यसस्स्स्सस्स... उफफफफफफ्फ़ आहह ... अमोल का हर तेज धक्का ... और हर तेज धक्के पर सैली की मस्ती भरी सिसकारी.... Mera naam Indra hai. Umar 25 saal ki lekin aaj mein ek vidhwa hoon. Aaj mein meri jindagi ka ek secret aapko bayan kar rahi hoon.

सैली लिंग को पकड़ कर उसे ज़ोर-ज़ोर से उपर नीचे करने लगी, काफ़ी मुलायम और रब्बर की कोई चीज़ जैसे खेलने के लिए मिल गयी हो उसे. और फिर माँ को देने के लिए बाथरूम की ओर जाने लगा कि तभी माँ जोर से चिल्लाई- क्या कर रहा है ? इतनी देर हो गई तुझे? कहाँ मर गया?

फिर हम दोनो थक कर लेट गये और फिर वो आधे घंटे बाद उठकर मुझे किस करने लगी और थेंक्स बोला और अपने रूम मे चली गयी माँ के पास। बाथरूम करती हुई उसे ज़्यादा से ज़्यादा अपने पास और नेनू से दूर, साथ मे वो नेनू के लिए अच्छा ही बोलती, जबकि उल्टा नेनू ही कई बार गुस्सा दिखाया था गौरव को सैली के साथ होने पर.

पूरी नंगी लड़कियां

  1. रीति चुप चाप चलती रही बिना कुच्छ कहे... इन दोनो के पिछे अनु और वासू भी चल रहे थे.... और इनकी नोक झोंक का इंतज़ार कर रहे थे...
  2. भला अपनी गर्लफ्रेंड के साथ कोई ऐसी जगह पर भी आता है. दूर हटो मुझ से, मुझ से बात करने की कोशिस भी मत करना. पागल कहीं के হিন্দি ব্লু ফিল্ম সেক্সি ভিডিও
  3. सूरज ने सच जानबूझ कर नहीं बताया ताकि किसी अन्य को न पते चले वरना सूर्या के दुश्मन इन पर हमला न करें और वास्तविक सच्चाई संध्या माँ और तान्या दीदी को भी नहीं बताना चाहता था अभी शैली सूरज के कठोर जिस्म,लंबा तगड़ा शरीर को देख कर सम्मोहित थी ।उसके लम्बे शरीर को देख कर उसके लिंग का मापन अपनी कल्पनाओं में करती थी ।
  4. बाथरूम करती हुई...मैंने कहा, ठीक है... लेकिन पहले मेरे लंड को एक बार आप चूस लो जिससे मेरा लंड और टाइट हो जाये। कहानी का शीर्षक 'आयेशा आँटी की चुदाई’ है! उन्होंने अंदर आकर दरवाज़ा बंद कर लिया और फिर बोली- क्यों बे हरामी ! क्या बोल रहा था? गन्दी गन्दी बात करता है मेरे बारे में? मेरा चूत लेगा ? देखी है मेरी चूत तूने...? है दम तेरी गांड में इतनी ?
  5. आवाज़ सुनकर चारो लड़कियाँ बाहर आई, गौरव और नीरज, अमर को पकड़ने की कोशिस कर रहे थे और, अमर अपने हाथ पाँव मारता उन से छूटने की कोशिस मे लगा था. सूरज- मौसी में सारी मलाई जीव्ह से चाट लूंगा, आप अपना भगोना तो दिखाओ यह सुनकर मधु की चूत में एक दम पानी की बाढ़ सी आ जाती है, चूत रस के तीब्रता के साथ पेंटी न पहने होने के कारण डिडलो उसकी चूत से निकल कर नीचे गिर जाता है और उसकी चूत से पानी बहने लगता है ।

लड़की को कैसे करते हैं

पर उस दिन हम एक गलती कर गए थे कि हमने कमरे का दरवाज़ा बंद नहीं किया था तो हमें किसी ने देख लिया। किसने देखा और फिर क्या हुआ, यह मैं आपको अपने अगले पत्र में बताऊंगा।

मेरे मन में एक मीठी सी टीस उठ जाती थी। चूत में से धीरे धीरे पानी रिसने लगा था। भरी जवानी चुदने को तैयार थी। मेरी साड़ी उतर चुकी थी, पेटिकोट का नाड़ा भी खुल चुका था। मुझे भला कहाँ होश था ... उसने भी अपने कपड़े उतार दिए थे। उसका लण्ड देख देख कर ही मुझे मस्ती चढ़ रही थी। किसन नीचे आया, कमर को देखा और उसके लॅगी के अंदर हाथ डाल कर, इंदु के योनि को मसल दिया. हाथ का ज़ोर इतना था, कि इंदु मचल गयी.....

बाथरूम करती हुई,काश तुम रोज ही बहका करो तो मजा आ जाए... वो झड़ने के बाद जाने की तैयारी करने लगा। रात के ग्यारह बजने को थे। वो बाहर निकला और यहाँ-वहाँ देखा, फिर चुपके से निकल कर सूनी सड़क पर आगे निकल गया।

दर्द और मस्ती का आनंद विक्की भी ले रहा था जिस बात का गवाह उसका कमर दे रहा था जो मस्ती मे हिल रहा था. अब दोनो मे से कोई भी इस खेल को आगे बढ़ाने की हिम्मत मे नही था, अब तो बस आनद लेने की बारी थी.

वो कम्प्यूटर के सामने वाली स्टूल पर बैठ गई और मैं भी उसके साथ ही उसके बाएँ वाली स्टूल पर बैठ गया। उसे समझाते समझाते कभी मैं उसकी जांघ पर हाथ रख देता तो कभी धीरे से उसके मम्मे को छेड़ देता।tamil and hindi sexy antý xxx bf video

हल्का नशा दोनो को छाने लगा था.... चूमते हुए साँसें दोनो की चढ़ने लगी थी, और खून मे उत्तेजना की लहर दौड़ना शुरू हो चुका था.... फोन रख कर उसने बगल से सिगरेट उठाया और जला कर कश लेते हुए कहा – क्यों रवि? तब तक तुम मुझे जन्नत की सैर करवाओगे न?

गौरव हँसते हुए .... भाई तू भी ना क्या क्या सोच लेता है. वो सच मे बहुत प्यारी है, और तुम दोनो जब से मिले हो झगड़े ही हो, कभी आराम से दोस्त की तरह मिलो वो तुम्ह भी अच्छी लगेगी.

संध्या- तू भी तो बैसी ही है, तू लन्दन से कब आई मधु शादी के बाद लन्दन चली गई थी, आज दोनों सहेलियां 22 साल बाद मिली थी ।,बाथरूम करती हुई ऑफिस पहुँचकर मैंने अपना काम जल्दी खत्म कर लिया। आज काम भी कुछ ज्यादा नहीं था। काम खत्म करने के बाद मैने सोचा की क्यूँ ना घर चलूँ।

News