ब्लू सेक्सी ओपन पिक्चर

बहन ने भाई को पटाया

बहन ने भाई को पटाया, (राजेश प्यार से टीना को अपनी ओर खींचता है और पास में बिठाता है। टीना की नग्न पीठ पर पानी की बूँदें धीरे से रिस रही है। राजेश प्यार से पीठ पर हाथ से बूँदें हटाता हुआ…) कुछ देर बाद उसने मुँह उठा ते हुए कहा, मेडम….राधा अब भी सम्हल जाइए अब भी वक्त है. हम मे अओर आपमे ज़मीन आसमान का फिर्क़ है. मैं एक झटके से उठी. अपने शरीर से आखरी वस्त्र भी नोच डाला. उसके सामने अब मैं बिल्कुल निवस्त्र थी जबकि वो पूरे कपड़ों मे था. मेरा चेहरा गुस्से मे लाल सुर्ख हो रहा था.

राजेश: ठीक है… मुझे कल सुबह तक बता देना…(टीना अपनी गरदन हिला कर मना करती है) खैर हमारी ट्रेनिंग के टाइम पर बता देना। जैसे ही, मेरे लंड से मलाई निकलना चालू हुई भाभी पलटी और घुटनों पर बैठ कर मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और पीछे से मेरी गाण्ड पकड़ कर अपने मुँह को चोदने लगी.

भाभी – मज़ा आ गया, यार… मूत है या एसिड… बड़ी कुत्ती चीज़ है ये चूत की आग… जितना मज़ा लो, उतना ही कम है… मुझे तो इंतजार है जब अपन दोनों, जय के मुँह में मुते… (अन्महह..) बहन ने भाई को पटाया और ये कहते हुए, मेरी बीबी भाभी के मुँह के ऊपर बैठ गई और अपनी चूत ऊपर से रगड़ते हुए उसके मुँह के आगे पीछे ऊपर नीचे करने लगी.

सेक्सी फिल्म मूवी सेक्सी

  1. और कुछ ही देर में भइया ने लंड हलके से थोड़ा सा बाहर निकाला और बहुत हलके से पुश किया। जिस तरह से उनका मोटा लंड मेरी चूत की दीवालों को रगड़तै दरेरते अंदर बाहर हो रहा था , मस्ती से मैं काँप रही थी।
  2. जब जय का लंड पूरा का पूरा तन गया तो उसने मुझसे बोला- अरे मेरी लंड की रानी, अब तो छोड़ दो मेरे लंड को… मुझे अब तुम्हारी चूत में अपना लंड पेलना और तुम्हें चोदना है… देखो ना मेरा लंड अकड़ कैसे खड़ा हो गया है.. यह अब तुम्हारी चूत में घुसना चाहता है… चलो अब चूत चुदवाने के लिए तैयार हो जाओ। बंगाली भाषा सेक्सी वीडियो
  3. लेकिन अँधेरा जबरदस्त था , पानी की धार भी तेज थी और बाग़ में नीचे जमींन एकदम कीचड़ हो गयी थी। चलना भी आसान नही था , हम सब थोड़ी खुली जगह पे थे जहाँ कीचड़ तो बहुत था लेकिन किसी पेड़ की डाल के गिरने का डर नहीं था। मैंने सोचा की क्या बॉडी है जीतो की. अगर यह मम्मी पर चढ़ जाए तो मम्मी की चूत की पूरी गर्मी निकाल देगा.
  4. बहन ने भाई को पटाया...मुझे बसंती की बात याद आ रही थी , मरद की चुदाई की बात और होती है। एकदम सही बोली थी वो। दर्द भी मज़ा भी। राजेश: जान… इस को अब अपने दूसरे मुख का स्वाद लेने दो…आओ इस के उपर बैठ जाओ (इतना सुनते ही करीना अपने मुख से लंड को निकाल कर अपनी चूत के मुहाने पर रख कर धम्म से बैठ जाती है। वजन के दबाव की वजह से राजेश का लंड अपनी जगह बनाता हुआ सरक कर अन्दर तक जा कर धँस जाता है।)
  5. खेतो के बीचो बीच चंदा काम कर रही थी जब उसकी नज़र हरिया पर पड़ती है तो वह उठ कर कुए की ओर चल देती है जहा हरिया खड़ा हुआ था, वाहा आकर पेड़ की छाया मे बैठ कर, क्या बात है हरिया बेटा आज सुबह-सुबह खेतो मे आए हो, लगता है कुछ काम करने के इरादे से आए हो कमला- आजा चंदा आजा, सच पूंछ तो मे तेरी ही राह देख रही थी, आज मेरे पैरो मे खास कर इन घुटनो मे बड़ा दर्द महसूस हो रहा है, उठने बैठने मे बड़ा दर्द होता है, अच्छा है तू आ गई चल ज़रा मेरे पैरो की मालिश तो कर दे, वैसे भी कितने दिनो से तूने मालिश नही की है,

वीडियो सेक्सी भोजपुरी

गंगू ने लच्छो को इशारे से उसकी टी शर्ट उतारने को कहा...पहले तो वो झिझकी पर फिर जल्द ही उसकी बात मान गयी...टी शर्ट के साथ-2 उसने अपनी कच्छी भी उतार फेंकी...और अब एक ही कमरे मे दोनो माँ बेटियाँ नंगी थी गंगू के सामने..

ओह मर गयी……. सोनिया ने अपने आप को मुझ से छुड़ाने की कोशिश की पर मेरा लंड पूरी तरह उसकी गंद मे घुसा हुआ था. में अपना लंड उसकी गंद के अंदर बाहर करने लगा. ''उम्म्म्मममम ...... पुचहssssssssssssssssssssss ...अहहssssssssssssssssss .....उम्म्म्ममममममममम ... ओह गंगू ........ चूसो मेरे होंठ .....अहह ....ज़ोर से ............ काटो मत ............... बस चूसो .............. उम्म्म्ममममममममssssssssssssssssssssssssssssssss ...अहह ....''

बहन ने भाई को पटाया,मुमु: मै देखती हूँ…(कहते हुए जाकर दरवाजे को खोलती है)…तुम…(आने वाले को देख कर गुस्से से भन्नाते हुए) तुम्हें यहाँ पर आने की हिम्मत… चले जाओ

मुमु: मै जानती हूँ…तुम्हारे दिल का दर्द्। आखिर हम सब का बचपन साथ बीता है। काश मेरी माँ जिन्दा होतीं तो यह सब तो न होता…

अब मुझे डर लगने लगा। उसकी आँखों पर अब भी दुपट्टा बंधा था। पर अब उसे आँखों की ज़रूरत कहाँ थी !! कहते हैं लंड की भी अपनी एक आँख होती है... जिससे वह अपना रास्ता ढूंढ ही लेता है !सेक्सी विडिओ इन हिंदी

राजेश: ज्यादा कुछ नहीं… बस… इस (अपने लंड की ओर दिखाते हुए) को अपने तीनों मुख में बारी-बारी से निगलना होगा। लोगों ने ऊपर उचक उचक कर उसे लूटने की होड़ लगाईं और जिस के हाथ वह चोली आई उसने उसे चूमते हुए अपने सीने और लिंग पर रगड़ा और अपनी जेब में ठूंस लिया।

मुझे कसकर नींद आ रही थी पर नींद के बीच-बीच में, चूड़ियों और पायल की आवाज, सिसकियां, चीख, मुझे सब कुछ साफ-साफ बता दे रही थी कि दोनों भाभी के बीच रात भर क्या खेल हो रहा है।

चाटते-चाटते वह मेरी गोरी पिंडलियों तक पहुँच गया। मैं भी उसे सहलाने लगी। तभी उसने अपना मुँह खुली स्कर्ट के अंदर तक डाल दिया, डर के मारे मैं उसे हटा भी नहीं पा रही थी।,बहन ने भाई को पटाया देखो कल ही चंपा भाभी ने मुझसे कहा था की मैं तुझे पूरी ट्रेनिंग दे दूँ ,जो भी ससुराल से सीख के आई हूँ , सीखा मैं दूंगी ,प्रैक्टिकल गाँव के लड़के करा देंगे। चम्पा भाभी की बात टालने की हिम्मत तो मुझमे है नहीं।

News