ಕನ್ನಡ ಸೇಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ

चूत में लंड लंड

चूत में लंड लंड, बैठो... मैं बात करती हूँ उस'से....! डॉली ने एक बार फिर इतरा कर मानव की तरफ देखा और मटकती हुई आगे बढ़ गयी.... शालू भी बोल पड़ी-कल पापा ने मुझे भी बहुत मज़ा दिया, और बोलते हुए शर्मा गई।अब दोनों चूदाइ की बातें करने लगीं, और कैसी चूदाइ हुई ये सब एक दूसरे को बताने लगीं।

है कि सिर्फ़ सुई ही उनके होंठो के बीच से गुजर सकती है और सन्नी बोलता है दीदी आइ लव यू, एक बार तुम भी कहो ना आइ लव यू, जैसे ही पिंकी ने प्यार से मेरे हाथ पर हाथ रखा.. जाने कहाँ से मेरी आँखों में नमी सी आ गयी.. हालाँकि अंदर ही अंदर में जल्द से जल्द चौपाल पहुँचने को उतावली थी...

अब कविता चौंकी और वी समझ गई की ये मामा और भांजी भी लगता है फसे हुए हैं, वरना कोई अपनी भांजी के लिए ऐसे कैसे बोलेगा। वो मुस्कराहट के साथ बोली: अभी लाईं सर! चूत में लंड लंड उधर शालू और श्याम भी फ़्रेश होकर लेट जाते हैं और श्याम शालू को अपने ऊपर लिटाकर उसके होंठ चूसता है और फिर अपनी एक उँगली उसके मुँह मेंडाल देता है, शालू समझनहीं पाती पर उसको चूसने लगती है। अब थूक से सनी उँगली श्याम शालू की गाँड़ में डालता है और अंदर बाहर करने लगता है।

ગુડ મોર્નિંગ સુવિચાર ફોટો

  1. मेरा मंन विचलित हो गया.. मुझे डर था कहीं वह सबूत को बोल कर बताने की बजाय 'दिखा' ना दे.. और मैं सबूत देखने से वंचित ना रह जाउ.. इसीलिए मैने उनकी और करवट लेकर हुल्की सी रज़ाई उपर उठा ली.. पर दोनो अचानक चुप हो गये...
  2. बता सकती है, बल्कि आपके लिए मैं खुद उससे बात कर लूँगा, बस मैं तो यही चाहता हू कि आपकी इसको, अपनी मम्मी की चूत को मसल्ते हुए फुल मज़ा मिलना चाहिए, सारिका रोहन का चेहरा देख रही थी और रोहन उसकी चूत को सहला रहा था, एक्स एक्स एक्स एक्स hindi com
  3. छ्चोड़ यार.. सच में मार देगी क्या? उपर है.. स्टूडियो वाले कमरे में...! सीमा ने बड़ी मुश्किल से अपना पीछा छुड़ाया.. मनीषा उसको छ्चोड़ते ही कमरे से बाहर भागी.... तभी शालू उसकी छाती मसलती हुई हँसने लगी और बोली- मेरे पापा भी आज आँखें फाड़कर तुमको देख रहे थे,मैंने देखा था उनका लंड भी खड़ा हो गया थ। और फिर दोनों हँसने लगी।
  4. चूत में लंड लंड...और ये तूने हाथ में क्या पकड़ लिया प्रमिला! सीमा अपनी आवाज़ को हद से भी ज़्यादा मीठी करके बोली और बत्तीसी निकाल दी.... मेरी मम्मी... सीमा ने एक बार चौंक कर मुझे देखा और फिर बोली..,अच्च्छा... तुमने उनको दिन में देख लिया होगा... है ना?
  5. सब आ जाएँगे यार... बस आने ही वाले हैं.. तुम कपड़े तो निकालो अपने.. बार बार बोलनी पड़ती है तुमको बात... सुनता नही है क्या? राज- चलो अगले राउंड में तुम कर लेना।फिर वो उसके गोल गोल चूतरों पर हाथ फेरने लगा।साथ ही उनको दबाने भी लगा। शालू- पापा , आपने माँ के अलावा भी किसी से मज़ा किया है?

देसी भाभी की सेक्सी पिक्चर

ओके ओके.. बताती हूँ.., मीनू ने कहा और फिर मेरी और देख कर बेचारा सा चेहरा बनाकर बोली, प्लीज़ अंजू.. तुम बता दो ना...

फ़ी वो दोनों राज के आने का इंतज़ार करने लगीं, सरिता ने ख दिया था, राज ke आते ही वो बाज़ार चली जाएगी ,ताकि वो दोनों अकेले रह सकें। बैठो ना यार.. खड़ी क्यूँ हो तुम..? मानव ने इस तरह कहा मानो 'वो' हमारे घर में नही; हम उसके घर में हों... खैर.. हम तीनो पहले की तरह लाइन में एक चारपाई पर एक दूसरी से सत्कार बैठ गये.....

चूत में लंड लंड,चाची उस तरफ जाने लगी तो चाचा ने मीनू को नीचे ही बुला लिया.., मीनू बेटी.. आना एक बार... और फिर पिंकी से बोले..,जा बेटी.. तू चाय बना ले!

देख लो चाची.. कितनी भोली बनकर खड़ी है अब... जैसे इसको तो कुच्छ पता ही ना हो इन बातों का... वहाँ तो 'रंडियों' की तरह संदीप के साथ... मैं तो कहता हूँ मेरी मान ही लो चाची... कल ही लेकर आ जा इसको खेतों में... सुन्दर ने कहा और हाथ बढ़कर मुझे पकड़ने की कोशिश की.. मैं तुरंत पीछे हट गयी...

राज समझ गया कि वो क्या चाहता है,उसने भी अपना लंड निलू की चूत से बाहर निकाला और शालू के ऊपर आ गया।उधर शेखर निलू के ऊपर आकर उसकी चूत में अपना लंड पेल दिया।अब राज ने भी अपना लंड शालू की चूत में अपना लंड पेल दिया।अब दोनों अपनी बेटियों को चोदने लगे।xxx हिंदी में वीडियो

कोशिश करती है लेकिन उसके हाथ मे कोई ज़ोर नही रहता है, सन्नी डॉली के गालो को चूमता हुआ उसकी चुचि को मसल्ने आप तो इस तरह हमें पोलीस जीप में बैठने को बोल रहे हो.. जैसे हम मुजरिम हैं... यहाँ कॉलेज के सामने... क्या सोचेंगे सब? मीनू इधर उधर देखती हुई बोली.. श्वेता और वो लड़की कुच्छ आगे खड़ी होकर हमें ही देख रही थी...

वीरू बोला: बेटी असल में उस कमीने के नाख़ून बहुत बड़े थे,उसिसे तुमको यहाँ घाव हो गया।अब कुछ दिन रोज़ मैं दवाई लगाउँगा तो ये ठीक हो जाएगी।अब उसने कई बार उसकी गाँड़ में ऊँगली डालकर दवाई लगाया और उसकी मस्त गाँड़ का मज़ा भी लिया।

मैं भी चलूं साथ.... पिंकी ने कहकर मुझे उलझन में डाल दिया... पर मीनू मेरे कुच्छ बोलने से पहले ही बोल पड़ी, नही... तू मेरे पास ही रह जा... मैं तुझे और कुच्छ भी बताउन्गि...,चूत में लंड लंड शर्म की हद तक शरमाने के बावजूद मुझे मज़ा भी आ रहा था और डर भी लग रहा था... अचानक 'वो' अपने हाथ को मेरे पेट पर ले आए और प्यार से 'उसको सहलाने लगे..,मैं जगह जगह दबा कर देखूँगा.. ये बताना कि दर्द कहाँ हो रहा है.. और कहाँ नही....!

News