नंगी सेक्सी फिल्म वीडियो में

मालिश वाली चुदाई

मालिश वाली चुदाई, चेतन चूचों से ऐसे चिपक गया.. जैसे बहुत भूखा हो और चूचों से दूध आ रहा हो.. डॉली सीधी लेट गई और चेतन उसके मम्मों को चूसता रहा। भिखारी पक्का रण्डीबाज या चोदू था.. वो तो ऐसे चूस रहा था जैसे डॉली उसकी लुगाई हो… और सारी रात उसके पास रहेगी.. उसको किसी के आने का जरा भी डर नहीं था, इतने आराम से सब कर रहा था कि बस डॉली तो वासना की आग में जलने लगी।

मैंने फिर उन्हें सारी बात बता दी तो वो बोले- यार मैंने अनवर को मना किया था कि तुमसे बात ना करे लेकिन उसने पता नहीं क्यों ऐसा किया। तो दोस्तों मेरी बीवी शिप्रा पेट से थी और उसकी डिलवरी की तारीख को 3-4 दिन ही बाकी थे तो शिप्रा ने कहा कि घर से किसी को बुला लो तो मैंने कहा ठीक है शिप्रा ने कानपुर फोन किया और अगले ही दिन उसकी माँ और प्रिया दिल्ली आ गये.

मा बार बार सिर उपर करके मेरी गोरी नाज़ुक गान्ड मे रघू का मूसल घुसता देख रही थी ये नज़ारा देख कर उससे ना रहा गया और बोली क्या कमाल है, इतनी नाज़ुक गान्ड मे कैसे जा रहा है यह घोड़े जैसा लंड? और मुन्ना भी मस्त है इसका और खड़ा हो गया है! गान्ड फटी कैसे नहीं इसकी बड़ा आश्चर्य है मंजू बाई मालिश वाली चुदाई और वही हुआ. शर्मिला बड़े जोर से उसके लंड पर झड़ीं. और ऐसे झड़ीं कि वे अपनी सुधबुध खो बैठीं. उन्हें ब्रह्माण्ड अपने चारों तरफ घूमता हुआ प्रतीत हुआ. उन्हें पता ही नहीं चला कि वे कब आनन्द के अतिरेक में कालू के ऊपर गिर गईं.

सेक्स वीडियो एचडी हाई क्वालिटी

  1. डॉली- आहह.. सर आहह.. मज़ा आ रहा है.. उफ़फ्फ़ अब पेल दो लौड़ा आहह.. मेरी चूत में.. आहह.. अब बर्दास्त नहीं होता.. आहह.. ससस्स ईयी उफफफ्फ़…
  2. जब मैंने ध्यान से देखा तो अपना सर नीचे किये हुए ही बस अपनी कातिलाना निगाहों को तिरछी करके उसने मुझे ताना मारा। हिंदी व्हिडीओ सेक्सी हिंदी व्हिडीओ सेक्सी
  3. फिर रात को 9 बजे हम तीनो ड्राइंग रूम मे टीवी देखते देखते ड्रिंक ले रहे थे। रिया ने रेड कलर की टी-शर्ट और जिन्स पहनी हुई थी, जो की उसके बहुत शॉर्ट और टाईट थी। आज के दिन को तो खाली रहने देते.. वैसे इसके अलावा भी कुछ और सूझता है तुम्हे उसकी बीवी ने उस लड़के की आँखो मे आँखे डाल मुस्कुराते हुए कहा. उसकी बीवी उस लड़के के हाथो को रोकने की कोसिस करते हुए बोली जो उसकी पीठ से होते हुए उसकी बीवी के नितंबो पर आ गये थे..
  4. मालिश वाली चुदाई...कल ले आऊन्गि रघू को अपने साथ बहूरानी वह ज़रा काम मे था खेतों को भी तो देखना पड़ता है! अब चुपचाप मेरी बुर चूसो खुद तो चुसवा लेती हो, मैं क्या मुठ्ठ मारूं? कल रघू ने भी नहीं चोदा मंजू बोली रिंकू- चुप करो.. इतना वक्त बातों में खराब कर रही है चूत नहीं तो मुँह से चूस कर ही मज़ा दे दे.. दरवाजा बन्द है आंटी आ भी गई तो जल्दी से अन्दर डाल लूँगा.. चल जल्दी आ…
  5. लेकिन मेरी इस बात का पता ज्योति को कैसे चला, यह सोच कर हैरान था… हैरानी इसलिए ज्यादा थी कि मैंने तो कभी वंदना को भी नहीं बताया था इस बारे में… पता नहीं यह सीक्रेट कैसे पता लगा इन्हें !! अभी यहीं बिस्तर पर लेट जाओ, थोड़ा आराम कर लो ... फिर चले जाना ! मैंने उसे उलझाये रखने की कोशिश की। मैंने उसे वही लेटा दिया। उसकी नजरें शरम से झुकी हुई थी। इसके विपरीत मैं वासना की आग में जली जा रही थी। ऐसे कैसे मुझे छोड़ कर चला जायेगा। मेरी पनियाती चूत का क्या होगा।

डब्ल्यू डब्ल्यू एक्स सेक्सी फिल्म

ललिता- तो अपने कौन सा मुझे बख्श दिया.. अपने भी तो उसी वक्त मेरी चूत पर पेशाब कर दिया था.. कितना गर्म था…

दोस्तों... चूचियाँ दबाते हुए, होंठ चूसते हुए ज़ोर-ज़ोर से चोद-चोद कर ऐसा मज़ा मिल रहा था कि पता ही नहीं चला कि कब मैं झड़ गया। झड़ते-झड़ते भी मैं उसे बस चोदता ही रहा और चोदता ही रहा। नहा-धो कर वो स्कूल चली गई.. रोज की तरह आज भी कुछ लड़के गेट पर उसके आने का इंतजार कर रहे थे ताकि उसकी मटकती गाण्ड और उभरे हुए चूचों के दीदार हो सकें।

मालिश वाली चुदाई,यह पहली बार था कि मेरे मम्मा दबाया गया, मैंने उसके सर पर दबाव डाला अपने मम्मों पर ताकि वो मेरे मम्मे चूसे और निप्पल चूसे।

सब कुछ सुनकर राजा ने पूछा- इतना गुरूर किस बात का तुझे लड़की...? आखिर ऐसा क्या है तेरे पास? ये चूचियाँ? यह गाण्ड? यह चूत? ये तो हर औरत के पास होती है और इस देश में औरतों की कमी नहीं ! मेरी एक आवाज़ पर यहाँ चूतों की कतार लग जाती है।

मेरी तन्द्रा टूटी और मैंने झेंप कर मुस्कुराते हुए दरवाज़ा पूरी तरह खोल दिया और सामने से हट कर उन्हें अन्दर आने का इशारा किया।हिंदी सेक्सी स्टोरीस

चेतन ने प्रिया को सुनाने के लिए ये बात कही ताकि उसको अच्छा लगे.. दरअसल चेतन की नियत प्रिया पर बिगड़ गई थी। अब वो किसी भी तरह उसको चोदना चाहता था। अब मैं भाभी से बातें करने लगा था और नीचे भी अक्सर क्रिकेट देखने के बहाने चला जाता था जब भी मैं उनके घर में टी.वी देखने जाता वो चाय जरूर पिलाती थी!

मेरे जिस्म में आग लगा दी.. उफ्फ अब तो आ आपके लौड़े से चूत और गाण्ड के अन्दर तक मालिश कर ही दो आह्ह.. तभी मुझे सुकून मिलेगा…

अब हीना मेरी बगल में अपनी पीठ के बल लेट गयी और अपनी टाँगों को फैला कर अपने हाथों से पकड़ लिया और बोली, अब आ न साले, क्यों वक्त लगा रहा है? अभी तो बहुत चुदास चढ़ी थी… अब क्या हो गया है? देख मैं अपनी चूत खोल कर लेटी हुई हूँ, अब आ और मुझे रगड़ कर एक रंडी के तरह चोद।,मालिश वाली चुदाई मेरा लंड अब तक इतना सनसनाने लगा था कि मैं और ना सह सका यह भी नहीं पूछा कि वह किस ख़ास मौके की बात कर रहा है मंजू बाई, गान्ड मारने दो ना कल की तरह

News