बीएफ फिल्म सेक्सी देहाती

हिंदी सेक्सी खुली

हिंदी सेक्सी खुली, उसे देखने लगा मैं, क्या चूत थी उसकी, घने बाल, ऐसा लग रहा था कि कितने महीनो से उसने शेव नहीं की... मुझे सॉफ चूत अच्छी लगती है, बट ललिता की बाल वाली चूत मुझे एक दम गरम कर रही थी... आहहहहहः उम्म्म्मम ज़ोर से कर ना मेरी जान आहाहाहहः अहाहहा क्या सक करती है तू मेरी डॉली अहहहहहः मैने बहेक के बड़बड़ाने लगी

मैं ऊपर से नीचे तक पूरी योनि के आसपास मालिश करने लगा और सबसे अंत में तेल में डूबी उँगलियों से उसके दाने को मसलने लगा। ललिता.. थॅंक यू वेरी मच.. तेरी वजह से ये सब मुमकिन हुआ है, नहीं तो आज हम इस घर की आखरी खुशी मना रहे होते मैं उसे फिर गले लग गया

आहहहहहहहहा मेरे भाई ह्म्‍म्म्मम मैं कुत्ति तो तू भी कुत्ता बन गया आख़िर आहहहहहहा और चोद ना अपनी जीब से ह्म्‍म्म्मम आहहाहहहहहा,,,,, और तेज़ हां मैं निकल रही हूँ भाई आहहहहहहहा,..... भाई मैं गयी आअहमम्म्ममममममम....उईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईई...............,माअममहाहाहः...... हिंदी सेक्सी खुली मैने अपनी स्पीड धीमे कर दी, और मैं नीचे ज़मीन पे लेट गया और पायल से इशारे में मेरे लंड की सवारी करने को कहा

बीएफ ब्लू पिक्चर सेक्सी मूवी

  1. ‘चलो ठीक है, तुम्हारी यह ख्वाहिश भी पूरी कर देती हूँ। अब से परसों तक जितनी बार भी निकालना मेरे मुंह में ही निकालना। मिस हाइड उस घिन से लड़ने और जीतने की कोशिश करेगी जो कल तक सोचने से भी आती थी।’
  2. मुझे ये दृश्य अच्छा नहीं लग रहा था, पर दिल में खुशी थी कि हमने पहली चाल ठीक चली है... पीछे देखा तो पायल अपने फोन को लॅपटॉप से केबल के थ्रू कनेक्ट करके कुछ करने लगी.. समझ नहीं आया क्या, पर मैने कुछ नहीं पूछा.. क्सक्सक्स सेक्स हिंदी
  3. शुक्र है कि बड़े सामान के आकर्षण से उसे मुक्ति मिली और करीब डेढ़ घंटे बाद उसने फिर गर्मी चढ़ने के आभास देना शुरू किया। पर उस दिन मुझे कॉलेज से अपने कागज़ लेने जाना था, और रंजना ने ही उसे मेरे साथ भेज दिया था कि न सिर्फ मेरी मदद करेगा बल्कि खुद भी उसे वहां काम था कुछ।
  4. हिंदी सेक्सी खुली...ओह्ह्ह्ह आहह हन मेरी ननद ऐसे ही चाट मुझे आहह...मैं भी आ रही हूँ ओह उफफफफ्फ़ आहह...उ.म्म्म्मडम कमिंग बेबी आहह..... हां भाभी मैं भी गाइिईईईईई आअहह,......उम्म्म्मम ऊहह..... ऐसी हरकतें कई बार उसने रानो के साथ भी की थी और आकृति के साथ तो कई बार ब्रेस्ट पंचिंग की थी, जिसके बाद वह हमेशा रोते हुए घर लौटी थी।
  5. नोप... नोट पासिबल... आइ लीव वेफ टुडे... आइ डोंट वान्ट टू स्पायिल टर्म्ज़ वित यू आंड कंपनी.. सो अभी मैं एसएल आंड पैड लीव रख देता हूँ... उससे 15 दिन निकल जाएँगे.. आंड आइ आम शुवर यू कॅन मॅनेज इन 15 डेज़ ऑल्सो... आइ ट्रस्ट यू वेरी मच सर.. मैने फिर मज़ाक में मेरे बॉस को कहा दिस ईज़ नोट दा राइट टाइम बेब... टेल मी, आज पापा तुमसे सिगनेचर्स लेने आए थे कोई पेपर्स पे सुबह को? मैं क्यूरियस होके पूछने लगा

हरियाणवी एक्स एक्स एक्स

उम्म्म,.. चोद ना उस कुटिया को.. अहहाहा आजा ना तेरी चूत तो दे अब.. मेरा लंड आज तेरे खानदान की चूत फाड़ने के लिए भी तैयार है मेरी रानी अहहहहहहा कहते कहते विजय अंकल ने अपना लंड अंशु की चूत पे सेट किया और एक ज़ोर का झटका मारके चुदाई करने लगे

अचानक इसने मुझे क्यूँ बुलाया, इतना धीरे क्यूँ बोल रही है.. अपने रूम में लॅपटॉप के साथ क्यूँ... ये सब सवाल पायल वहाँ से निकलते निकलते डॉली के दिमाग़ में बिठा के निकल गयी चार्ज मी एनितिंग ऑलराइट... बट मेक शुवर ऑल दा सीडी'स आंड वीसीडी'ज दट वी वान्ट टू प्ले इन इट , फॉर्मॅट शुड बी सपोर्टेड. ओर एल्स फर्गेट पे, आइ विल श्योर यू गाइस.. मैने कड़क आवाज़ में कहा

हिंदी सेक्सी खुली,पर इस बात की ख़ुशी थी कि मैंने दर्द की बाधा पर कर ली थी और अब ये सोच कर और उत्तेजना भर रही थी कि आखिरकार मैं सहवास कर रही थी और एक परिपक्व लिंग को अपनी योनि में लिये थी।

ओके मोम... बस इतना कहके मैं वहाँ से तुरंत किसी तूफान की तरह पूजा के कमरे याने गेस्ट रूम की तरफ बढ़ने लगा..

शन्नो:- हां छोटी... चल कोई नही, आज रात को आती हूँ तेरे पास, इतने दिन के ड्रामे से मैं भी थक गई हूँ... वहाँ आके बात करती हूँ, बाइलव शायरी विडियो डाउनलोड

उम्म्म... आहा भाई, और मज़ा दो ना, यस हनी, अहहहहाहा... मैं पायल की चूत चाट रहा था और वो दोनो हाथों से अपने निपल्स भी सहला रही थी.. उम्म्म.... अंशु , युवर चिक ईज़ टू हॉट बेबी... रात को हमारे साथ ये भी आएगी या नहीं उस लड़के ने मेरी ओर देख के मेरी माँ से पूछा

जिस रेक्सीन के गदीले पट्ठों पर उनकी जांघें टिकी थीं वहाँ इतनी तो जगह अभी भी थी कि मैं चिपक कर उनकी पीछे बैठ सकता और मैंने बैठने में देर भी नहीं लगाई।

अच्छा बहेन जी.. एक और काम की बात है आपसे, ये वक़्त ठीक नहीं है उसके लिए शायद, पर मैं राज और पूजा की शादी की तारीख के बारे में सोच रही थी.. आपको कोई दिक्कत नहीं हो तो अंशु ने अपना पासा फेंका,हिंदी सेक्सी खुली मोबाइल की स्क्रीन पे देख के पहले तो सोचा कि क्या जवाब दूँगा अगर बात आगे बढ़ाई तो, क्यूँ कि ऑफीस में काम के अलावा मुझे टाइम वेस्ट नहीं करना था.... स्मस डॉली का था

News