देसी चुदाई गांव वाली

गरीब औरत की चुदाई

गरीब औरत की चुदाई, बिहारी- यार थोड़ा धीरे मार ना अपनी जानेमन की गान्ड को.. बेचारी की मूत निकल गयी.. और इतना कहकर वो दोनो ज़ोर ज़ोर से हँसने लगते हैं..मोनिका को तो ऐसा लग रहा था कि वो कहीं जाकर अपना मूह छुपा ले.. राधिका भी उनकी बातो से शरम्शार हो जाती हैं और अपनी आँखें बंद कर लेती हैं... शाम के करीब साढ़े-सात या आठ बज रहे होंगे. मयूरी अशोक के कमरे में घुसते ही दरवाजा अंदर से बंद करके अपने कपड़े उतारकर फेंकने लगी. उसको देखकर अशोक ने भी बिना वक्त गंवाए अपने कपड़े उतार कर फेंक दिए.

राहुल- नही विजय ऐसी कोई बात नही हैं. मैं अभी इस वक़्त पोलीस स्टेशन जा रहा हूँ अभी रास्ते में हूँ और मैं तुझे पहुँच कर थोड़े देर में फोन करता हूँ. राधिका- एक बात बताओ राहुल तुमने ख़ान जी से झूट क्यों बोला. क्यों तुम्हें नहीं लगता कि इन सब के पीछे विजय का हाथ होगा.

राहुल- आंटी जी मैं समझ सकता हूँ मगर इस वक़्त मैं इस स्थिती में नहीं हूँ कि अब मैं कोई भी इस वक़्त फ़ैसला ले सकूँ...आप मुझसे बड़ी हैं और आपको जो सही लगे..... ये फ़ैसला मैं अब आप पर छोड़ता हूँ....जो आपका फ़ैसला होगा मुझे सब मंज़ूर होगा...... गरीब औरत की चुदाई और गाड़ी गेट के बाहर सड़क पर दौड़ने लगी काफी चल पहल थी सड़क में सभी भागे जा रहे थे इस भीड़ में किसी को किसी की चिंता नहीं थी सब अपने काम से काम रखे हुए एक दूसरे को कुचलते हुए अपने स्वार्थ के लिए जद्दो जेहाद में लगे थे कही गाड़ी किसी को साइड करके आगे निकल रही थी तो कोई गलत तरीके से ओवर टेक कर रहा था

सेक्सी बीएफ वीडियो फुल एचडी

  1. कम्मो साड़ी खोल कर एक तरफ़ फ़ेकते हुए –क्या आडीटर साहब आपको भी मैं बुढ़िया पसन्द आई उस पे इतनी उतावली?
  2. राधिका- देखिया मिस्टर. जग्गा जी आप अपनी हद्द से आगे बढ़ रहे है. आप अपनी औकात में रहकर बात कीजिए. वरना अंजाम बुरा होगा. विशाल साड़ी न्यू कलेक्शन
  3. राधिका- बता ना निशा कैसे आना हुआ. राहुल की पार्टी ठीक रही ना. अरे आने से पहले कम से कम एक फोन तो कर दिया होता. ----------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
  4. गरीब औरत की चुदाई...कमाया अपने कमरे में पहुँचकर जल्दी से बाथरूम में घुसी और अपने को सवारने में लग गई थी वो इतने जल्दी बाजी में लगी थी कि जैसे वो अपने बाय फ्रेंड से मिलने जा रही हो वो जल्दी से बाहर निकली और वार्ड रोब से एक स्लीव लेस ब्लाउस और एक वाइट कलर का पेटीकोट निकाल कर वापस बाथरूम में घुस गई निकाल देती है. अब विजय मोनिका के सामने बिल्कुल नंगा खड़ा हो जाता है अब उसके जिस्म पर एक भी कपड़ा नही था.मोनिका उसको एक टक उसके लंड को देखते ही रहती है. उसको ऐसा देखकर विजय उससे कहता है.
  5. उसका माँसल गदराया पेट और गहरी नाभी देख कर अच्छे अच्छे तपस्वी मुतने लग जाए, कम्मो भटियारिन की नाभि इतनी बड़ी और गहरी है कि किसी भी जवान लंड के टोपे को अगर नाभि मे डाला जाय तो उसका टोपा नाभि मे फिट हो जाए। राधिका- सब ख़तम हो गया राहुल. सब कुछ बर्बाद हो गया. और इतना कहकर राधिका राहुल के सीने से लिपटकर ज़ोर ज़ोर से रोने लगती हैं.

सील बंद लड़की की चुदाई

कृष्णा फिर एक एक करके अपने सारे कपड़े उतार देता हैं और फिर राधिका को अपने गोद में उठाकर बेडरूम में ले जाता हैं. फिर उसे वही सुला कर अपना होंठ राधिका की चूत पर रखकर उसकी चूत को धीरे धीरे चाटना शुरू करता हैं.

इस वक़्त राहुल बिल्कुल खामोश बैठा हुआ था...उसके हाथों में वही राधिका की डायरी थी.....और आँखों में आँसू....राहुल को ऐसा रोता हुआ देखकर निशा उसके कंधे पर अपना हाथ रखकर उसे चुप कराती हैं......थोड़ी देर बाद वो थोड़ा नॉर्मल होता हैं.... बिहारी- देख कृष्णा अब जो मैं तुझसे कहना चाहता हूँ वो तू ध्यान से सुन. तू मेरे यहाँ काम कर चाहे ना कर इस बारे मे मैं तुझे कुछ नही कहूँगा. पर.............

गरीब औरत की चुदाई,मम्मीजी- अरे सुबह को इतना काम रहता है और तुम दोनों को भी तो काम पर जाना है कामेश को तो हाथ में उठाकर सब देना पड़ता है नहीं तो वो तो वैसे ही चला जाए दुकान पर

उधर बल्लू के बड़े बड़े हाथों की याद कर कर के उत्तेजना के मारे हुमा की हालत ज्यादा ही पतली हो रही थी, वो ख्यालों मे बल्लू के बड़े बड़े हाथ अपने सारे जिस्म पर फ़िसलते अपनी हलव्वी चूचियाँ दबाते सहलाते हुए महसूस कर रही थी

पार्वती- देखो...... बेटी.. मेरे पास समय.....बहुत कम हैं.....मैं बचूंगी नहीं....ये मेरे.........पति के आदमी .....थे.. उसने ही ...मुझे मरवाया हैं...........বাংলাচুদাচুদি ভিডিও দেখাও

इतना सुनते ही बिहारी की डर के मारे हालत खराब हो जाती हैं और वो फिर से पार्वती की पैरों में गिर पड़ता हैं. और विजय भी उसी डर से सहम जाता हैं. जीत..,कामिनी अदालत के अहाते मे अब्दुल पाशा & टोनी के साथ अपनी कार से उतरते षत्रुजीत सिंग के पास पहुँची,..मुझे तुमसे अकेले मे कुच्छ बात करनी है.,शत्रुजीत ने पाशा & टोनी की तरफ देखा तो वो उसका इशारा समझ कर वाहा से हट गये.

ये ही ठीक रहेगा इससे मेरी चूत का मुँह भी थोड़ा खुल जायेगा फ़िर मैं आसानी से इस घोड़े के जैसे लण्ड से चुदवा पाऊँगी वरना तो ये मामी की फ़ाड़ ही देगा।

राहुल- नहीं जान ऐसा मत बोलो. मेरा दिल टूट जाएगा. अगर तुम कहो तो मैं ख़ान को भेज देता हूँ तुम्हें लेने. फिर मैं तुम्हें हॉस्पिटल ले चलूँगा.,गरीब औरत की चुदाई बेचारा अजय कितनी देर से दोनों औरतों की हवस बुझाने में लगा हुआ था. चाची तो अपने भारी भरकम चूतड़ लेकर उसके चेहरे के ऊपर ही बैठ गय़ीं थीं. फ़िर भी बिना कुछ बोले पूरी मेहनत से ताई और चाची को बराबर खुश कर रहा था. अजय का लन्ड थोड़ा मुरझा सा गया था. पूरा ध्यान जो चाची की चूत के चोंचले पर केन्द्रित था.

News