शादी के बाद चुदाई

चेहऱ्यावरील चामखीळ घालवण्याचे उपाय

चेहऱ्यावरील चामखीळ घालवण्याचे उपाय, जय से भी कंट्रोल नहीं हो पाया.. एक सीमा होती है कंट्रोल करने की.. इतनी हॉट लड़की खड़ी हो सामने.. और वो भी पूरी नंगी.. तो किस चूतिया से कंट्रोल होगा। कोमल दीदी को मुस्कुराती देख मेरी जान में जान आई मैं कुछ बोल पाता कि वो फिर बोल पड़ी- देखो… अब तरसाओ मत, मुझे आज तुम्हारी जरूरत है… कितने समय से तुम्हारा इंतजार कर रही हूँ. आज तुम यहाँ हो तो… मैं कही नही जाऊंगी अब चाहे तेरे जीजू का फोन भी आये समझे.

तो दोस्तो, मेरे कमरे में काफी कम रोशनी थी, और वे दोनों खुले में थे, तो बस मॉनिटर मेरे लिए होम थिएटर में बदल गया, उसमें मुझे वो सब परछाई में दिख रहा था जो उस कमरे में घटित हो रहा था। मेरी इस तीसरी आँख के बारे में उनमें से किसी को नहीं पता था और तभी बिल्ली के भागों जैसे छींका फ़ूटा। रमेश रिया को अभी प्यार से धक्के लगा रहा था। रमेश की नज़र रिया की गांड के छेद पर गयी। उसने रिया से बिना बताए अपनी एक उंगली को उसकी गांड में घुसा दिया।

अब मैं बिस्तर के कोने पर आ गया और उसकी टाँगों को अपने कंधों पर रख लिया। उसकी बुर का छेद और मेरे लण्ड का टोपा.. एकदम आमने-सामने थे.. मैंने देर ना करते हुए उसकी बुर पर अपना लण्ड फिराया.. वो तड़प उठी और बोली- बस अन्दर डाल दो.. चेहऱ्यावरील चामखीळ घालवण्याचे उपाय कुछ देर ऐसे ही करने से नीलम की चूत से पानी निकल गया. अब मैंने अपने लंड पर तेल लगा कर नीलम की चूत पर अपना लंड टिकाया और जोर से धक्का मारा.

सेक्सी हिंदी सेक्सी हिंदी सेक्सी

  1. एक ओर वह यह नहीं चाहती थी कि मैं उसके साथ यह सब करू, पर दूसरी ओर यौन इच्छाएं उसे आगे बढ़ाए जा रही थीं। । । । उसकी गीला योनी को जब मैंने अपनी उंगलियों से रगड़ा तो मेरी उंगलियां भी गीली होती चली गईं। कितनी ही देर में उसकी योनी उसकी सलवार के अन्दर ही हाथ डाले रगड़ता रहा
  2. वो रमेश का लण्ड चूसने लगी। रमेश आराम से बेड पर बैठा था और रिया अपने मुंह का जादू दिखा रही थी। रमेश रिया के चूतड़ों को सहलाते हुए उस पर थप्पड़ भी मार रहा था। रिया धीरे धीरे रमेश के लण्ड को कसके चूसने लगी। एक्सएक्सएक्सी मूवी
  3. वैसे चाची चॉकलेट आपको बड़ी पसंद हो तो एक बेहद मस्त चॉकलेट मेरे पास भी हे.. मैंने सोच समझ के डबल मीनिंग डायलॉग मारा था चाची ने जैसे ही संमझा की मैंने डबल मीनिंग में उनसे कहा हे तो वो जैसे आधी लेटि थी की एक दम से उठ बैठ गयी और कहा लेकिन मेरा हाथ कौन सा रुकने वाला था एक हाथ से दीदी की और दूसरी हाथ से कांता की चूचियों को दबाने लगा और दोनों मुझे लिपकिस करने लगीं।
  4. चेहऱ्यावरील चामखीळ घालवण्याचे उपाय...तब तक डॉली हमारे पास पहुँच गई तो मैं सीधा उसके गले लग गया और उसकी बुरड़ों को दबा दिया और जल्दी से अलग हो गया। ये सब मैंने इतना जल्दी किया कि किसी को ज्यादा पता ही नहीं चला। मैंने साना की बात अनसुनी करते हुए हाथ अंदर डालने की कोशिश जारी रखी। । पर साना ने मेरा हाथ अंदर जाने नहीं दिया। मैंने साना के कान के पास अपने होंठ ले जाते हुए फुसूफुसाया कि: बस थोड़ा प्रेस करना है। ।
  5. रमेश ने रिया की टांगों के बीच में जगह बनाई और बैठ गया। उसने रिया के करीब आकर उसकी चूत को पहले सूँघा। सूंघने से उसमें चूत की सौंधी सी खुशबू आ रही थी। मैं उसके सिर को अपनी चूत में दबाने लगी. इतनी गर्म हो गयी थी कि मैं अगले कुछ मिनट में ही झड़ गयी. झड़ने में पहली बार मुझे इतना आनंद मिला था. मेरा भाई राज सच में बहुत मस्त तरीके से चूत को चूसता था.

రొమాంటిక్ నా సాంగ్స్

रमेश- ठीक है। अब से तेरा काम शुरू हो जाता है. तुझे धीरे धीरे एक-एक करके अपने कपड़े उतारने हैं और मैं तेरा वीडियो बनाऊंगा. मेरा जब मन करेगा, जैसे मन करेगा वैसे तुझे चोदूंगा और उसका वीडियो भी बना सकता हूं. मैं तुझसे जो बोलूंगा वह तुझे करना पड़ेगा।

हम दोनों थक कर शांत हो गये. उस दिन हम दोनों नंगे ही पड़े रहे. शाम को उठे और फिर खाना खाया. उसके बाद रात में एक बार फिर से मैंने अपनी बहन की चूत को जम कर चोदा. उसने भी मेरे लंड को चूत में लेकर पूरा मजा लिया और फिर हम सो गये. तभी रिया ने उसके सर को अपनी जांघों के बीच में जकड़ लिया और दोनों हाथों से उसके सर को चूत पर धकेलने लगी।

चेहऱ्यावरील चामखीळ घालवण्याचे उपाय,हाँ, यह उसी दिन की बात थी, जब मैं कॉलेज में साना के साथ मौजूद था और मुझे दीदी का मेसेज आया था कि तुम ठीक हो ना? । । । । । ।

दोनों बॉब्स को दोनों हथेलीयो में कसकर हलके दबाब के साथ मसलते हुए चुटकी में निप्पल को पकड़के हलके से दबाया जैसे किशमिश के दाने को दबाते है.

दस मिनट तक उसके मुंह को चोदने के बाद मैंने अपना सारा माल उसके मुंह में ही निकाल दिया. वो पूरा का पूरा माल पी गई. एक बूंद भी नीचे नहीं गिरने दी।மும்பை விபச்சார விடுதி

अब मैंने धीरे से अपने लिंग को प्रेस किया, उन्हें थोड़ा दर्द हुआ और वो बोलने लगीं- आह.. सौरभ बहुत दर्द हो रहा है.. प्लीज़ मत करो ना. पहले तो मैं जस्सी को ही देखता रह गया जस्सी ने लाल रंग की नाईट ड्रेस पहनी हुई थी.. क्या मस्त माल लग रही थी.

और फिर वो उठी और झुक के मेरे गाल पे कस किया और बाहर जाने लगी, और दरवाजा बंद करते टाइम माँ ने जाते जाते कहा.

जैसे ही मेरी जीभ उसके भगांकुर को छूती, दिदी का शरीर में कंपकंपी की लहर दौड़ जाती और वह अपनी चुत को मेरे मुंह पर दबा देती. उसके ऐसा करते ही मैं अपनी जीभ को उसकी चुत में डाल देता और उसके अन्दर घुमा कर उसकी उत्तेजना की आग में घी डालने का काम करता.,चेहऱ्यावरील चामखीळ घालवण्याचे उपाय शायद उसकी.सील टूट चुकी थी. मेरे लंड में भी बहुत दर्द हो रहा था. मैं थोड़ी देर के लिए रुक गया. फिर दीदी धीरे धीरे अपनी गांड हिलाने लगी, तो मैं समझ गया कि अब वो चुदने को तैयार है. अब अगले झटके दिए जा सकते हैं.

News